खेल

कप्तान कोहली ने माना, गलत था टीम का चुनाव, खिलाड़ियों को दिए टिप्स

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1877
| अगस्त 13 , 2018 , 14:58 IST

इंग्लैंड के खिलाफ दूसरा टेस्ट मैच भी हारने वाली भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने अंतिम एकादश चुनाव की गलती को स्वीकारा है। वेबसाइट 'ईएसपीएन' की रिपोर्ट के अनुसार, कोहली ने कहा कि उन्होंने मैच से पहले टीम का संयोजन गलत किया। 

उल्लेखनीय है कि लॉर्ड्स पर खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड ने भारत को पारी और 159 रन से करारी मात दी। इस जीत के साथ मेजबान टीम ने पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त ले ली है। 

.jpg

कोहली ने अंतिम एकादश के चुनाव पर कहा कि उन्होंने स्पिन गेंदबाजों के चुनाव में गलती की, क्योंकि लॉर्ड्स का वातावरण तेज गेंदबाजों के पक्ष में था। 

कप्तान कोहली ने कहा, "मौसम का अंदाजा लगा पाना संभव नहीं था। मैच की शुरुआत में यह बिल्कुल अलग था, लेकिन मेरा मानना है कि मैंने टीम के संयोजन में गलती की। अगले मैच में हमारे पास इस गलती को सुधारने का मौका है।"

कोहली ने कहा कि सबसे सही यहीं होगा कि भारतीय टीम अगले मैच में जीत हासिल कर सीरीज का स्कोर 2-1 करे और इसके बाद सीरीज को रोमांचक बनाए। 

बल्लेबाजों की समस्या मानसिक है, तकनीकी नहीं-:

दूसरे टेस्ट मैच के दौरान कोहली को पीठ में दर्द की शिकायत भी हुई थी। इस पर कप्तान ने कहा, "सबसे अच्छी बात यह है कि तीसरा टेस्ट मैच 18 अगस्त से शुरू होना है और ऐसे में हमारे पास पांच दिन का समय है। मैं आश्वस्त हूं कि मैं अगले मैच के लिए बिल्कुल तैयार हो जाएंगे।"

विराट कोहली का मानना है कि उनकी टीम की बल्लेबाजी को लेकर लगातार बढ़ रही समस्या तकनीकी से अधिक मानसिक है और उन्होंने साथी बल्लेबाजों से अपील की कि इंग्लैंड के खिलाफ मौजूदा टेस्ट श्रृंखला को बचाने के लिए वे चीजों को सामान्य रखें।

कोहली ने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'मुझे कोई तकनीकी खामी नजर नहीं आती। अगर बल्लेबाज अपनी योजना को लेकर स्पष्ट हैं और उसे कोई तनाव नहीं है तो अगर गेंद पिच से मूव भी करती है तो भी आप इससे निपट सकते हो।'

मैच के बाद विराट कोहली की प्रेस कांफ्रेंस देखने के लिए यहां क्लिक करें

उन्होंने कहा, 'अगर मेरे दिमाग में काफी कुछ चल रहा है तो मुझे लगता है कि अब गेंद ऐसा करेगी या वैसा करेगी या कुछ भी कर सकती है। आपके दिमाग में तीन-चार चीजें चल रही होती हैं। यह पुरानी बातें दोहराने जैसा होगा लेकिन जैसे कि महान खिलाड़ियों ने कहा है, चीजों को सामान्य रखो, आपको यही करना है। आप यहां आकर यह नहीं सोच सकते कि हालात काफी कड़े हैं। अगर आप इनसे निपटने की तैयारी करते हैं तो ये मुश्किल नहीं हैं।’


कमेंट करें