नेशनल

कर्नाटक: टीपू जयंती का विरोध, हिरासत में प्रदर्शनकारी, कई शहरों में धारा 144 लागू

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1395
| नवंबर 10 , 2018 , 13:11 IST

कर्नाटक में आज कांग्रेस और जेडीएस टीपू सुल्तान की जयंती मना रही है। इसके उलट बीजेपी टीपू की जयंति का विरोध कर रही है। बीजेपी ने सरकार से जश्न समारोह को रद्द करने की अपील करते हुए शुक्रवार को बेंगलुरू, मैसूर और कोडागू में विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शन किया। बीजेपी के विरोध को देखते हुए कर्नाटक के कई शहरों में धारा 144 लगा दी गई है।

कर्नाटक सरकार इस बार टीपू की जयंती पर कई कार्यक्रम आयोजित करने की योजना है। हर साल की तरह इस साल भी टीपू जयंती पर राजनीति गरमा गई है। 10 और 11 नवंबर को सुबह 6 बजे और 7 बजे से इन दोनों शहरों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। इस दौरान एक ही जगह पर 4 से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकते।

सीएम ने बनाई दूरी

कर्नटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी डॉक्टर की सलाह के कारण अगले तीन दिन तक किसी आधिकारिक समारोह में हिस्सा नहीं लेंगे। टीपू जयंती पर आयोजित प्रमुख समारोह का उद्घाटन उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर करेंगे।

बीजेपी कर रही है विरोध

बीजेपी टीपू सुल्तान को कट्टर शासक बताती है। बीजेपी और दक्षिणपंथी संगठनों का कहना है कि टीपू सुल्तान ने मंदिर तोड़े और बड़े पैमाने पर हिंदुओं का धर्मांतरण करवाया। बीजेपी सांसद शोभा करंदलाजे ने कहा है कि टीपू जयंती का आयोजन कर सिद्धारमैया ने अपनी सत्ता खो दी अब ऐसा ही उनके साथ होने वाला है जो टीपू जंयती मनाने जा रहे हैं।

हिंसक झड़प मे गई कई लोगों की जान

सिद्धारमैया की अगुवाई वाली पिछली कांग्रेस सरकार ने बीजेपी और कई हिंदू संगठनों के कड़े विरोध के बावजूद 2016 से हर साल 10 नवंबर को टीपू सुल्तान की जयंती मना रही है। पिछले दो वर्षों से इन समारोहों की हिंसक झड़पों में कई लोगों की जान भी जा चुकी है।


कमेंट करें