नेशनल

Engineers Day: एम. विश्‍वेश्‍वरैया की 157वीं जयंति पर गूगल ने डूडल बनाकर किया याद

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1595
| सितंबर 15 , 2018 , 09:05 IST

भारत में इंजीनियर दिवस 15 सितंबर को मनाया जाता है। इस दिन भारत के महान इंजीनियर डॉ. एम. विश्‍वेश्‍वरैया का जन्म हुआ था। इस मौके पर गूगल ने डूडल बनाकर एम. विश्‍वेश्‍वरैया को याद किया है। एम. विश्‍वेश्‍वरैया का पूरा नाम मोक्षगुंडम विश्‍वेश्‍वरैया था। वह एक उम्दा इंजीनियर थे और उनकी जैसी कला किसी के भी पास नहीं थी। उन्होंने दक्षिण भारत के मैसूर, कर्नाटक को एक विकसित और समृद्धशाली क्षेत्र बनाने में बड़ा योगदान दिया।

एम. विश्‍वेश्‍वरैया ने कई महत्वपूर्ण कार्यों जैसे नदियों के बांध, ब्रिज और पीने के पानी की स्कीम आदि‍ को कामयाब बनाने में अविस्‍मरणीय योगदान दिया। उनके इंजीनियरिंग के क्षेत्र में विशेष योगदान को सम्मानित करने के लिए उन्हें साल 1955 में 'भारत रत्न' से भी नवाजा गया।

जब देश आजाद नहीं था, तब एम. विश्‍वेश्‍वरैया ने कृष्णराजसागर बांध, भद्रावती आयरन ऐंड स्टील व‌र्क्स, मैसूर संदल ऑयल ऐंड सोप फैक्टरी, मैसूर विश्वविद्यालय, बैंक ऑफ मैसूर समेत अन्य कई महान उपलब्धियों में एम. विश्‍वेश्‍वरैया ने अभूतपूर्व योगदान दिया। उनकी इन्हीं उपलब्धियों और टैलंट की वजह से एम. विश्‍वेश्‍वरैया को 'कर्नाटक का भागीरथ' भी कहा जाता था।

भारतीय साम्राज्य के किंग जॉर्ज वी के द्वारा विश्वेश्वरैया को नाइट कमांडर के रुप में नियुक्त भी किया गया था। कृष्ण राजा सागर बांध के बनाने में इनकी भूमिका अहम रही है।

विश्वेश्वरैया नें मैसूर में लड़कियों के लिए अलग से हॉस्टल और पहला फर्स्ट ग्रेड कॉलेज, महरानी कॉलेज खुलवाने का श्रेय जाता है। इसके अलावा एशिया के बेस्ट प्लान्ड लेआउट्स में जयानगर, जो कि बेंगलुरु में स्थित है, इसकी पूरी डिजाइन और बनाने का श्रेय सर एम. विश्वेश्वरैया को ही जाता है।


कमेंट करें