नेशनल

संसद में बोले रविशंकर, पाकिस्तान आतंकी देश है लेकिन तीन तलाक वहां भी बैन है

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
848
| दिसंबर 28 , 2017 , 18:58 IST

संसद के निचले सदन लोकसभा में आज तीन तलाक बिल पेश किया गया। इस बिल को पेश करते हुए केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी तीन तलाक को गलत बताया है और ये उम्मीद थी कि शीर्ष अदालत के फैसले के बाद स्थितियां बदलेंगी, लेकिन फिर भी इससे जुड़े कई मामले सामने आए। इस बीच रविशंकर ने इस्लामिक देशों में बिल पर लगाए प्रतिबंधों का जिक्र किया।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आतंकवादी देश है, लेकिन वहां भी तीन तलाक के खिलाफ कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं। अफगानिस्तान, तुर्की, मिस्र, ईरान और बांग्लादेश में भी तीन तलाक के खिलाफ कदम उठाए गए हैं। इस्लामिक देशों ने तीन तलाक को रेगुलेट किया और कहा गया है कि अगर आपको अपनी पत्नी को तलाक देना है तो उसे पहले नोटिस दीजिए।

साथ ही कोई इन नियमों का उल्लंघन करता है तो उसे एक साल की जेल का प्रावधान भी है।रविशंकर ने कहा कि आज दुनिया कहां पहुंच गई है और हम अभी भी वहीं खड़े हुए हैं। विपक्ष की ओर से हो रहे विरोध पर रविशंकर ने कहा कि बिल को दलों की राजनीति में नहीं बाटा जाना चाहिए।

एमजे अकबर बोले- इस्लाम नहीं मुस्लिम मर्दों की जबरदस्ती खतरे में:

इसी दौरान केंद्रीय राज्यमंत्री एमजे अकबर ने कहा कि- एक मुस्लिम होने के नाते मैं यह बात रखना चाहता हूं कि इस बिल को लेकर जहर फैलाया जा रहा है कि इससे इस्लाम खतरे में है, इस्लाम नहीं मुस्लिम मर्दों की जबरदस्ती खतरे में है।

मीनाक्षी लेखी ने कहा गवाह बनने वाले मौलवियों पर भी हो सती प्रथा के समान केस:

भाजपा सांसद और वरिष्ठ वकील मीनाक्षी लेखी ने तीन तलाक के मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि तलाक अपने आप में ही दुखद प्रक्रिया है और महिलाओं के इससे सबसे ज्यादा पीड़ा उठानी पड़ती है। इसलिए देश में तीन तलाक पर कानून बहुत जरूरी है।

तीन तलाक का भारी विरोध करते हुए उन्होंने कहा कि “इस बात पर मुझे ख़ुशी है कि आज कांग्रेस सहित बाकी दल भी हमारे साथ अत्याचारी तीन तलाक के खिलाफ है। हम सबको सती प्रथा की तरह ही इस खराब तीन तलाक के विरोध में भी लड़ना होगा।”

लेखी ने सदन में अपना बयान दिया कि सती प्रथा की तरह ही तरह तीन तलाक में गवाह बनने वाले मौलवियों पर भी कड़े केस होने चाहिए तथा उनको भी सजा मिलनी चाहिए तब ही जाकर यह अन्याय रुकेगा।

इस मौके पर एक शायरी कहते हुए उन्होंने तीन तलाक समर्थकों को निशाने पर लिया लेखी ने कहा कि ”क्यों बनाते हैं हम ऐसे रिश्ते, जो पल दो पल में टूट जाते हैं…..वादा तो करते हैं ताउम्र साथ निभाने का, लेकिन हल्की से आंधी में गुज़र जाते हैं।”


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें