राजनीति

ऐतिहासिक: त्रिपुरा में लाल रंग को भगवा रंग ने चटाई धूल, शून्य से शिखर पर पहुंची BJP

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1899
| मार्च 3 , 2018 , 13:09 IST

त्रिपुरा के लालकिले में सेंध लगाकर पहली बार पूर्वोत्तर के इस राज्य में सत्ता में आई बीजेपी ने इतिहास रच दिया है। हिंदी पट्टी की पार्टी कही जाने वाली बीजेपी ने 60 में से 59 सीटों के लिए हुए मतदान में 41 सीटों पर जीत हासिल की है, जबकि माणिक सरकार के नेतृत्व वाली सीपीएम को महज 17 सीटों पर संतोष करना पड़ा है। राजनीतिक विश्लेषकों के अलावा यह नतीजे बीजेपी के लिए भी चौंकाने वाले हैं।

2013 में बीजेपी को महज 1.5 फीसदी वोट मिले थे

2013 के चुनाव में बीजेपी को लेफ्ट का गढ़ कहे जाने वाले इस सूबे में महज 1.5 फीसदी वोट ही मिले थे, लेकिन इस बार बीजेपी गठबंधन ने वोट शेयर में बड़ी बढ़त हासिल करते हुए 49.6 पर्सेंट वोट हासिल किया है। बीजेपी को खुद 41.1 फीसदी वोट मिले हैं, जबकि उसकी सहयोगी पार्टी पीपल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा को 8.5 फीसदी वोट मिले हैं। इस तरह दोनों दलों के गठबंधन को सूबे के करीब आधे वोटरों ने समर्थन दिया है।

त्रिपुरा: कभी आगे-कभी पीछे, यूं बदला सीन

1993 में त्रिपुरा की सत्ता पर काबिज हुए लेफ्ट के लिए यह सूबा भी केरल और पश्चिम बंगाल की तरह गढ़ बन चुका था। लेकिन, पश्चिम बंगाल के बाद अब इस सूबे की सत्ता जाने से लेफ्ट को करारा झटका लगा है। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी अब सिर्फ केरल में गठबंधन सरकार चला रही है।

त्रिपुरा में बीजेपी का शून्य से शिखर तक का सफर

Gfx Plate BJP Tripura


कमेंट करें