नेशनल

50 लाख प्रतिक्रियाओं से बना देश का पहला डिजिटल सर्वे, 4.5 साल बाद भी मोदी सबसे लोकप्रिय नेता

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1677
| नवंबर 1 , 2018 , 21:55 IST

स्थानीय भाषाओं में कंटेंट और समाचार उपलब्ध कराने वाले भारत के नंबर वन एप्लीकेशन, 'डेलीडंट' ने गुरुवार को अपने प्रतिष्ठित सर्वे "ट्रस्ट ऑफ द नेशन" के परिणामों की घोषणा की। यह सर्वे डेलीहंट और नील्सन इंडिया ने एकसाथ मिलकर करवाया। इस सर्वेक्षण का सबसे अच्‍छा वर्णन भारत के सबसे बड़े और सबसे निर्णायक एवं स्वतंत्र रूप से करवाये गये राजनीतिक डिजिटल सर्वेक्षण के रूप में किया गया है, जिसमें भारत और विदेशों से 54 लाख से अधिक उत्तरदाताओं ने भाग लिया।

इस अनूठे सर्वे में देश की कोने कोने से लोगों ने भाग लिया, जिनमें असली भारत के मतदाता शामिल हैं यानी कि वो मतदाता जो भारत के टियर 2 और टियर 3 शहरों में रहते हैं। इनके अलावा महत्वपूर्ण मेट्रो शहरों से लोग शामिल हुए और वे भी सक्रिय रूप से शामिल हुए जिन्होंने भारत में वोट देने के लिये पहली बार पंजीकरण करवाया है।

 डेलीहंट और नील्सन इंडिया ने संयुक्त रूप से सर्वेक्षण को तैयार किया, जिसे डेलीहंट के प्लेटफार्मों पर होस्ट किया गया और अंग्रेजी, हिन्दी, तेलुगु, कन्नड़, बांग्ला, गुजराती, मराठी, तमिल, मलयालम और ओडिया जैसी 10 भाषाओं में क्रियान्वित किया गया।

डेलीहंट ने डेटा एकत्र किया और नील्सन के एपीआई के जरिए से इसे नील्सन को मुहैया कराया। नील्सन इंडिया ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्वीकृत उन मानदंडों और मानकों के आधार पर आंकड़ों को एकत्रित किया, जो ऐसे सर्वेक्षणों पर लागू होते हैं

डेलहंट ट्रस्ट ऑफ दि नेशन सर्वे 63% उत्तरदाताओं ने 2014 (जब वह सत्ता में आए) की तुलना में नरेंद्र मोदी पर अधिक अथवा समान स्तर का विश्वास व्यक्त किया, और पिछले चार वर्षों से उनकी नेतृत्व क्षमताओं पर संतुष्टि व्यक्त की।

उत्तर, दक्षिण, पश्चिम और पूर्वी भारत में 'विश्‍वास' और 'भरोसा' कारकों का सावधानीपूर्वक विश्लेषण किया गया, जिनमें निम्नलिखित दिलचस्प बातें सामने आयीं: - मैक्रो स्तर पर, कर्नाटक को छोड़कर बाकी के सभी दक्षिणी राज्य मोदी के नेतृत्व के बारे में अधिक सतर्क प्रतीत हुए। - एक तरफ ओडिशा में संभावित मतदाताओं ने नरेंद्र मोदी का उच्च विश्वास और आस्‍था के साथ समर्थन किया। वहीं दूसरी ओर, तमिलनाडु के मतदाता दोनों मामलों पर सबसे ज्यादा संशय में दिखे।

जब 5 राज्यों की बात आयी, जहां चुनाव जारी हैं, - छत्तीसगढ़, मध्‍य प्रदेश, राजस्थान सभी वर्तमान में मोदी पर विश्‍वास बनाये हुए हैं। - तेलंगाना एक मात्र राज्य है जो इस प्रवृत्ति से अलग है


कमेंट करें