नेशनल

केरल की भयावह बाढ़ से चिंतित है संयुक्त राष्ट्र, लगातार घटनाक्रम पर बनी है नजर: गुटेरेस

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2098
| अगस्त 18 , 2018 , 12:51 IST

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस केरल में बांध से लोगों की मौत और तबाही से चितित हैं। वैश्विक संगठन इस घटनाक्रम पर करीब से नजर बनाए हुए है। गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने शुक्रवार को संवाददाताओं को बताया कि संयुक्त राष्ट्र भारत में बाढ़ से मची तबाही और मौतों से व्यथित है। यह बाढ़ लगभग 100 सालों में सबसे विनाशकारी बाढ़ है।

यह पूछे जाने पर कि क्या भारत ने संयुक्त राष्ट्र से सहयोग मांगा है? इस पर उन्होंने कहा कि अभी तक मदद नहीं मांगी गई है, जैसा कि आपको पता है कि भारत के पास इस तरह की प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के लिए सक्षम मशीनरी है। उन्होंने कहा, "लेकिन यकीनन हमारी टीम और मैं हमारे रेजिडेंट समन्वयक यूरी अफानासेव के संपर्क में हैं। वे इस घटना पर करीब से नजर रखे हुए हैं।"

बाढ़ ने मचाई केरल में तबाही -:

बता दें कि केरल बाढ़ की भीषण तबाही का सामना कर रहा है। केरल में अबतक बाढ़ से करीब 180 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि मानसून की शरुआत से अबतक 324 लोगों की मौत हुई है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री पिनरई विजयन से चर्चा के बाद नरेंद्र मोदी देर रात केरल पहुंचे। वे आज बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे किया।

500 करोड़ का हुआ ऐलान -:

केंद्र सरकार ने केरल के लिए 500 करोड़ रुपये की सहायता राशि देने के का ऐलान किया है।इसकी घोषणा प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री व अन्य अधिकारियों के साथ हुई बैठक के दौरान की गई है। केरल सरकार ने केंद्र से 2000 करोड़ रुपये की सहायता राशि की मांग की थी।

राज्य में युद्धस्तर पर राहत और बचाव का काम जारी है। केरल में अभी 80 हजार लोग बाढ़ के पानी में फंसे हैं। इनमें अकेले एर्नाकुलम के अलुवा के 70 हजार लोग शामिल हैं। सेना के साथ NDRF की टीमें राहत कार्य में जुटी हैं। भारी बारिश के चलते पिछले दिनों राज्य में छोटे-बड़े 80 बांधों के गेट खोलने पड़े।


कमेंट करें