राजनीति

भागलपुर हिंसा: बेटे पर FIR दर्ज होने पर बोले अश्विनी चौबे, प्रशासन अंधा हो गया है

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
868
| मार्च 20 , 2018 , 17:12 IST

बिहार के भागलपुर में 3 मार्च को हुए हिंसा के मामले में पुलिस ने केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे और बीजेपी नेता अरिजीत शाश्वत के खिलाफ मामला दर्ज़ किया है। इस मामले में अश्विनी चौबे ने स्थानीय प्रशासन को अंधा बताते हुए कहा कि उन्हें अपने बेटे के स्वयंसेवक होने पर गर्व है।

Arijit-Choubey

उनका कहना है कि शोभा यात्रा में कुछ अराजक तत्‍वों ने गलत कार्य किए। प्रशासन उन लोगों को गिरफ्तार करने में असमर्थ रही है इसलिए सभी आरोप शोभा यात्रा पर लगा दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि 'मुझे गर्व है कि मैं एक भाजपा-आरएसएस का स्वयंसेवक हूं। मुझे भागलपुर के सभी श्रमिकों और निकाली गयी शोभायात्रा पर गर्व है। शोभा यात्रा को पुलिस एस्कॉर्ट कर रही थी। सभी नियमों-प्रावधानों के अनुसार शोभा यात्रा निकाली गयी थी।

आपको बता दें कि यह पूरा मामला 3 मार्च का है जब केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अरिजीत शाश्वत की अगुवाई में बीजेपी, आरएसएस और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने एक जुलूस निकाला था। पुलिस के अनुसार कुछ स्थानीय लोगों ने गाना बजाने पर आपत्ति जताई जिसकी वजह से तनाव पैदा हुआ। दो अलग-अलग समुदायों के स्थानीय लोगों के बीच झगड़ा हो गया, गोलियां चली, पथराव हुए और दुकानों एवं वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया। इस उपद्रव में पुलिस ने अरिजीत शाश्वत, बीजेपी नगर अध्यक्ष अभय घोष, प्रमोद वर्मा, देव कुमार पांडे और कई अज्ञात लोगों को आरोपी बनाया है।


कमेंट करें