नेशनल

राममंदिर का रास्ता जरूर निकलेगा: योगी आदित्यनाथ

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1724
| फरवरी 22 , 2019 , 20:14 IST

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को राजधानी के इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (आईईटी) के राम प्रसाद बिस्मिल में भारत के मन की बात के अंतर्गत युवाओं से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बातचीत की। दो तरफा संवाद कार्यक्रम का सभी 80 लोकसभा क्षेत्र में सीधा प्रसारण किया गया। राममंदिर पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में योगी ने कहा, "अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण देश की आस्था से जुड़ा बड़ा सवाल है। इसका रास्ता जरूर निकेलगा। जब प्रयागराज में 450 वर्ष बाद सभी लोगों के लिए अक्षयवट का दर्शन संभव हो सकता है तो राम मंदिर का निर्माण भी अवश्य संभव होगा। आप मानकर चलिए नामुमकिन को मुमकिन में बदलने का नाम ही नरेंद्र मोदी है।"

मुख्यमंत्री ने कहा, "मोदी जी ही देश के युवाओं को नेतृत्व दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि एक आदमी के जीवन में क्या परिवर्तन ला सकते हैं इसके बारे में सबको सोचना चाहिए। छात्रा आयुषी ने पूछा, "सरकार महिला व छात्राओं के लिए क्या कर रही है तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी सरकार का फोकस ही इस वर्ग पर है। उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती में अलग से बालिकाओं को रिजर्वेशन की व्यवस्था की गई है। बालक और बालिकाओं में किसी प्रकार का भेद नहीं होना चाहिए।"

इंजीनियरों से बात करते हुए उन्होंने कहा, "वे अलग-अलग क्षेत्रों में अपनी सेवाएं दें। उन्होंने कहा कि आज का युवा समाज के लिए काम करना चाहता है। इस दौरान जीवन स्तर को आगे बढ़ाने के लिए युवाओं ने अपनी बात रखी।"

योगी ने कहा, "मुख्यमंत्री बनने के बाद जब काम करने के लिए आगे बढ़ा तो प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण क्षेत्रों में यूपी 17वें नंबर पर था। अब इसमें सुधार हुआ है। कुंभ की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि प्रयागराज में गुरुवार तक इक्कीस करोड़ श्रद्धालुओं ने स्नान किया।"

राजनीति में आने के इच्छुक युवा को भी योगी आदित्यनाथ ने विशिष्ट टिप्स दी। उन्होंने कहा कि जिसमें भारत के राष्ट्रवाद को आगे बढ़ाने की क्षमता हो तो वह राजनीति में आगे बढ़ेगा। भारत के युवाओं को मोदी जी से प्रेरणा लेनी चाहिए। यह संवाद, मेरठ, आगरा, गोरखपुर, कानपुर और वाराणसी के युवाओं से हुआ। कार्यक्रम के जरिए दो लाख से अधिक युवाओं ने मुख्यमंत्री से बात की।


कमेंट करें