बिज़नेस

EU, कनाडा और मैक्सिको के Steel पर US ने लगाया 25% इंपोर्ट टैरिफ

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
853
| जून 1 , 2018 , 12:21 IST

ट्रंप प्रशासन ने बड़ा कदम उठाते हुए यूरोपीय संघ (EU), कनाडा और मैक्सिको से आयातित स्टील और एल्यूमीनियम पर दी जाने वाली शुल्क छूट को समाप्त करने की घोषणा की है। प्रशासन ने इंपोर्ट होने वाले स्टील और एल्युमीनियम पर इंपोर्ट ड्यूटी लगा दी है। स्टील पर 25 फीसदी और एल्युमिनियम पर 10 फीसदी इंपोर्ट ड्यूटी लगाई है। हफ्तों चली बात फेल होने के बाद ट्रंप ने यह कदम उठाया है।

गौरतलब है कि यूरोपियिन यूनियन, कनाडा और मैक्सिको अमेरिका के सबसे बड़े ट्रेडिंग पार्टनर हैं। तीनों को मार्च में लगी ड्यूटी में छूट मिली थी, लेकिन अमेरिका ने अब वो छूट वापस लेने का फैसला किया है। इधर, यूरोपियन यूनियन ने भी सख्त कदम उठाने की धमकी दी है। साथ ही मैक्सिको ने भी काउंटर ड्यूटी लगाने की बात कही है।

BBC के मुताबिक, फ्रांस के राष्ट्रपति इमेनुएल मैक्रों ने ट्रंप को फ़ोन किया और कहा कि उनका ये क़दम 'अवैध' है। मैक्रों ने कहा कि यूरोपियन यूनियन बेहद मजबूती से इसका जवाब देगी।

ट्रंप ने भी अपने क़दम को सही ठहराने के लिए तर्क दिए हैं। उनका कहना है कि अमरीकी स्टील और एल्यूमीनियम उत्पादक राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए अहम हैं और विदेश से मिलने वाली स्टील सप्लाई से अमरीका को ख़तरा है।

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक स्टील और एल्यूमीनियम पर इंपोर्ट ड्यूटी लगाने से भारतीय कंपनियों को भी घाटा तो होगा, लेकिन चीन और ब्राज़ील जैसे देशों के मुक़ाबले ये बहुत कम होगा। अमरीका को एल्यूमीनियम और स्टील के कुल निर्यात में भारत की हिस्सेदारी तकरीबन 3 फ़ीसदी है। भारत का अमरीका को स्टील निर्यात उतार-चढ़ाव भरा रहा है, लेकिन एल्यूमीनियम सेक्टर पर निश्चित तौर पर इसका असर पड़ेगा।

पिछले कुछ सालों के दौरान अमरीका को एल्यूमीनियम का निर्यात लगातार बढ़ा है। 2013-14 में एल्यूमीनियम का निर्यात 201 मिलियन डॉलर रहा, जो 2014-15 में बढ़ कर 306 मिलियन डॉलर पर पहुंच गया। हालांकि 2015-16 में यह मामूली घट कर 296 मिलियन डॉलर पर रहा और 2016-17 में बढ़ कर 350 मिलियन डॉलर पर पहुंच गया। एल्यूमीनियम पर अमरीका के 10 फीसदी आयात शुल्क के ऐलान से निर्यात में भी कमी आएगी।


कमेंट करें