इंटरनेशनल

ट्रंप को पाकिस्तान के प्रभाव में आना बंद कर देना चाहिए: पेंटागन के पूर्व अधिकारी की सलाह

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
479
| फरवरी 24 , 2017 , 21:02 IST

पेंटागन के एक पूर्व उच्च अधिकारी ने कहा है कि अमेरिका को पाकिस्तान की चतुराई से बचना चाहिए और उसके प्रभाव में आना बंद कर देना चाहिए। इसके साथ ही उसे दी जाने वाली सभी तरह की सैन्य और वित्तीय सहायता रोक देनी चाहिए। वर्ष 2009-2014 तक पेंटागन के वरिष्ठ सलाहकार रहे क्रिस्टोफर डी कोलेंडा ने अफगानिस्तान में पाकिस्तान की छलपूर्ण नीति पर प्रकाश डालते हुये लिखे एक लेख में कहा,

पहले कदम के रूप में, ट्रंप प्रशासन को पाकिस्तान को दिया गैर-नाटो सहयोगी का दर्जा निलंबित कर देना चाहिए और उसे सैन्य और वित्तीय सहायता देना बंद कर देना चाहिए।

Donald-trump-1024

उन्होंने ‘द हिल’ में प्रकाशित इस लेख में कहा,

हमें पाकिस्तान के प्रभाव में आना बंद कर देना चाहिए। अब समय आ गया है कि अमेरिका को पाकिस्तान के साथ अपने संबंधों में गरिमा लानी चाहिए

उन्होंने कहा कि जरूररत पड़ने पर अमेरिका को अधिक दंडात्मक कार्रवाई करने के लिए तैयार रहना चाहिए। क्रिस्टोफर ने आगे कहा, ‘इस तरह की कार्रवाई पाकिस्तान को अफगान तालिबान के खिलाफ रवैया अपनाने के लिए बाध्य नहीं करेगी।’ कोलेंडा वर्तमान में सीएनएएस में सहायक वरिष्ठ फेलो और सेंटर फॉर ग्लोबल पॉलिसी में वरिष्ठ फेलो हैं।

000_Del6401241

उन्होंने कहा कि यहां तक कि 1990 के दशक में अमेरिकी नेतृत्व वाली मजबूत प्रतिबंध व्यवस्था के अंतर्गत रहते हुए भी पाकिस्तान कश्मीर और अफगानिस्तान में विद्रोही गतिविधियों का समर्थन कर रहा था और वह अभी भी अपने परमाणु कार्यक्रम को आगे बढ़ा रहा है।

पेंटागन के पूर्व अधिकारी ने सुझाया कि एक बार अफगानिस्तान में स्थायी शांति कायम हो जाने के बाद अमेरिका को पाकिस्तान के लिए ‘पीस डिविडेंड’ देने पर विचार करना चाहिए। कोलेंडो ने कहा, ‘इस ‘पीस डिविडेंड’ में सहायता की बहाली और नागरिक-परमाणु समझौते पर विचार शामिल हो सकता है।’

H_yusuf_us_pak_500x279


कमेंट करें