इंटरनेशनल

अमेरिकी मदद रुकी तो बोला पाकिस्तान- मदद नहीं बकाया रकम का भुगतान कर रहा अमेरिका

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
1852
| सितंबर 3 , 2018 , 16:12 IST

अमेरिका की ओर से पाकिस्तान को दी जाने वाली 300 मिलियन डॉलर की मिलिट्री मदद को बंद कर दिया गया है। पाकिस्तान की मानें तो यह कोई सैन्य मदद नहीं थी बल्कि यह वह रकम है जो अमेरिका को पाकिस्तािन को अदा करनी थी ताकि वह आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ सके। उन्होने ने कहा कि वह यह मुद्दा अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपेयो के साथ बातचीत में उठाएंगे जो पांच सितंबर को इस्लाअमाबाद पहुंच रहे हैं।

पाक मंत्री ने रविवार शाम को कहा कि ये वो पैसा है जो पाकिस्तान ने अपने संसाधनों से खर्च किया है और अमेरिका को इसे हमें लौटाना था। उन्होंने जोर देकर कहा है कि यह हमारा पैसा है और हमने खर्च किया है। कुरैशी ने तर्क रखते हुए कहा कि आतंकवाद के खिलाफ जंग में हमारे साझा उद्देश्य हैं और इसकी बेहतरी के लिए पाकिस्तान ने योगदान किया है और जानमान की कुर्बानी दी है।

इमरान सरकार के मंत्री ने कहा कि अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को यह पैसा लौटाया जाना था, जो उन्होंने नहीं दिया है। पाकिस्तान की पिछली सरकार पर निशाना साधते हुए इमरान खान के मंत्री ने आगे कहा कि यह आज नहीं हुआ बल्कि पाकिस्तान की इस हुकूमत के आने से पहले ही अमेरिकी सरकार ने जितनी भी सुरक्षा मदद थी, उसे बंद कर दिया था।

अमेरिका ने दी सफाई

अमेरिक ने पाकिस्तान को दी जाने वाली 300 मिलियन डॉलर की सुरक्षा सहायता पर रोक लगाने के अपने फैसला पर सफाई दी है। अमेरिकी रक्षा विभाग के मुख्यालय पेंटागन के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल कॉन फॉल्कनर ने बताया कि दुर्भाग्यवश हालिया खबरों में कोएलिशन सपोर्ट फंड (सीएसएफ) की डिटेल्स की कई चीजों को संदर्भ से अलग तोड़-मरोड़ कर बताया गया है। पाकिस्तान को सुरक्षा सहायता रोकने का का ऐलान जनवरी 2018 में किया गया था। यह एक नया निर्णय या नई घोषणा नहीं है।

आपको बता दें कि एक दिन पहले ही खबरें आई थीं कि अमेरिकी सेना ने आतंकियों के खिलाफ निपटने में असफल रहने पर पाकिस्तान को दी जाने वाली 300 मिलियन अमेरिकी डॉलर की सहायता राशि पर रोक लगा दी है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें