नेशनल

बीजेपी सांसद वरुण गांधी का बड़ा बयान, कहा भारत को रोहिंग्या की मदद करनी चाहिए

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
2095
| सितंबर 26 , 2017 , 16:42 IST

रोहिंग्या शरणार्थियों को भारत में रहने दिया जाए या नहीं, इसे लेकर केंद्र सरकार अपना रुख भले साफ कर चुकी हो, लेकिन बीजेपी के अंदर इसे लेकर मतभेद सामने आ रहे हैं।

सरकार की लाइन से अलग जाते हुए बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने लिखे अपने लेख में रोहिंग्या शरणार्थियों को भारत में रहने दिए जाने की वकालत की है। उन्होंने इसके लिए परंपरा का तर्क भी दिया है। उन्होंने कहा कि आतिथ्य सत्कार और शरण देने की परंपरा का पालन करते हुए रोहिंग्याओं को शरण देना निश्चित रूप से जारी रखना चाहिए।

वरुण ने लेख में कहा कि भारत को रोहिंग्या की मदद करनी चाहिए। वरुण ने लिखा है कि हमें म्यांमार रोहिंग्या को शरण देनी चाहिए, लेकिन उससे पहले वैध सुरक्षा चिंताओं का आकलन भी करना चाहिए। गौरतलब है कि वरुण का यह स्टैंड सरकार के रुख से बिल्कुल अलग है। केंद्र सरकार सुप्रीम कोर्ट में अपने हलफनामे में रोहिंग्या मुस्लिमों को देश की सुरक्षा के लिए खतरा बता चुके हैं।

वरुण ने लिखा कि हमें शांतिपूर्ण उपायों से अपनी शक्ति का इस्तेमाल करते हुए उन्हें स्वेच्छा से घर वापसी में मदद करनी चाहिए। आतिथ्य सत्कार और शरण देने की अपनी परंपरा का पालन करते हुए हमें शरण देना निश्चित रूप से जारी रखना चाहिए।

एक हिंदी अखबार के लिए लिखे लेख में वरुण ने कहा कि आजादी के बाद से करीब 4 करोड़ लोग भारत की सीमा लांघ चुके हैं अब और भी शरणार्थी आने की तैयारी में है। वरुण ने लिखा कि भारत ने शरणार्थियों को लेकर बहुत सी संधियों पर हस्ताक्षर किए हैं, लेकिन इसके लिए कोई कानून नहीं बनाया है। उन्होंने कहा कि इस कानून के तहत उत्पीड़न से भागने वाले और गरीबी से भागने वाले शरणार्थियों की पहचान होनी चाहिए।वरुण ने इस मुद्दे को लेकर कुछ सुझाव भी सामने रखे हैं। उन्होंने कहा कि भारत को एक राष्ट्रीय शरणार्थी नीति बनाने की जरूरत है जो उत्पीड़न से भागने वाले और गरीबी से भागने वाले शरणार्थी के बीच अंतर कर सके।

रोहिंग्या मुस्लिमों को वापस म्यांमार भेजने की योजना पर केंद्र सरकार ने 18 सितंबर को 16 पन्नों का हलफनामा दायर किया था। इस हलफानामे में केंद्र ने कहा कि कुछ रोहिग्या शरणार्थियों के पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठनों से संपर्क का पता चला है। ऐसे में ये राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज से खतरा साबित हो सकते हैं।

वरुण के रुख पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी नेता और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने उनकी आलोचना करते हुए उनकी देशभक्ति पर ही सवाल खड़े कर दिए। केंद्रीय मंत्री हंसराज अहीर ने तो यहां तक कह डाला कि कोई भी देशभक्त ऐसा नहीं कह सकता। अहीर ने कहा, 'जो देशभक्त होगा...जो देश के हित में सोचेगा वह इस तरह का बयान कभी नहीं देगा।'

 


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें