इंटरनेशनल

खत्म होगी माल्या की बहानेबाजी, ब्रिटेन की अदालत ने तिहाड़ जेल को बताया सुरक्षित

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1378
| नवंबर 17 , 2018 , 11:42 IST

लंदन हाईकोर्ट का एक फैसला भारत के लिए विजय माल्या के प्रत्यर्पण के लिहाज से महत्वपूर्ण हो सकता है। यूके की अदालत ने तिहाड़ जेल को सुरक्षित परिसर करार देते हुए कहा है कि यहां भारतीय भगोड़ों का प्रत्यर्पण किया जा सकता है।

Mallलंदन हाईकोर्ट ने कहा है कि नई दिल्ली की तिहाड़ जेल में सुरक्षा स्थितियों के संबंध में भारत सरकार के आश्वासन से वह सहमत है। मैच फिक्सिंग का यह मामला सन 2000 का है। इसमें दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान हैंसी क्रोनिए ने भी अपनी संलिप्तता की बात मानी थी। बाद में क्रोनिए की हवाई दुर्घटना में मौत हो गई थी।

भारत के लिहाज से महत्वपूर्ण

क्रिकेट फिक्सिंग के आरोपी संजीव चावला के केस में आया यह फैसला बैंक धोखाधड़ी कर भागे विजय माल्या के प्रत्यर्पण के लिहाज से महत्वपूर्ण हो सकता है।

विजय माल्या के केस पर पड़ेगा असर

भारत की ओर से चावला के इलाज का भरोसा दिलाए जाने के बाद लंदन हाई कोर्ट ने यह बात कही है। लंदन उच्च न्यायालय के इस फैसले का असर विजय माल्या के केस पर भी होगा। इसकी वजह यह है कि माल्या अकसर भारत की जेलों को असुरक्षित बताते रहे हैं, ऐसे में अब ब्रिटिश अदालत से उसके प्रत्यर्पण को मंजूरी मिल सकती है।

माल्या ने ऑर्थर रोड जेल पर उठाए थे सवाल

विजय माल्या ने जुलाई में ब्रिटेन की कोर्ट में सुनवाई के दौरान कहा था कि पुणे की ऑर्थर रोड जेल के 12 नंबर बैरक में पर्याप्त प्राकृतिक प्रकाश भी नहीं है। इसके बाद कोर्ट ने भारतीय अधिकारियों से बैरक की वीडियो रिकॉर्डिंग मांगी थी। सीबीआई ने अगस्त में ब्रिटेन की कोर्ट में जेल का आठ मिनट का एक वीडियो पेश किया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इसमें बैरक में पर्याप्त प्रकाश होने का दावा किया गया था। यह भी कहा गया था कि यह इतनी बड़ी है कि इसमें माल्या आसानी से टहल सकते हैं।


कमेंट करें