खेल

...तो इसलिए अंतिम ओवर में विराट ने विजय से कराई थी बॉलिंग

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2236
| मार्च 6 , 2019 , 14:10 IST

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मंगलवार को खेले गए दूसरे वनडे मैच में भारत को आठ रनों से रोमांचक जीत दिलाने वाले हरफनमौला खिलाड़ी विजय शंकर ने कहा है कि वह इसी मौके की तलाश में थे और दबाव में अच्छा करना चाहते थे। भारत ने विदर्भ क्रिकेट संघ (वीसीए) स्टेडियम में पहले बल्लेबाजी करते हुए 48.2 ओवर में 250 रनों का स्कोर बनाया और फिर ऑस्ट्रेलिया को 49.3 ओवर में 242 रनों पर रोक दिया।

ऑस्ट्रेलिया को आखिरी छह गेंदों पर जीत के लिए 11 रन बनाने थे और गेंद शंकर के हाथों में थी। शंकर ने 50वें ओवर की पहली गेंद पर माकर्स स्टोयनिस (52) को पगबाधा आउट कर भारत की जीत लगभग पक्की कर दी। इसके बाद उन्होंने तीसरी गेंद पर एडम जम्पा (2) को बोल्ड कर भारत को आठ रनों से रोमांचक जीत दिला दी।

कप्तान विराट कोहली के 40वें वनडे इंटरनेशनल शतक और विजय शंकर के आखिरी और निर्णायक ओवर की बदौलत भारतीय टीम ने मंगलवार को नागपुर वनडे में कंगारू टीम को 8 रन से हराकर रोमांचक जीत दर्ज कर ली। ऑस्ट्रेलिया को मैच के आखिरी ओवर में जीत के लिए 11 रन चाहिए थे और उनके हाथ में सिर्फ दो विकेट बाकी थे। विजय शंकर ने सिर्फ 2 रन ही दिए और मार्कस स्टोइनिस और एडम जाम्पा का विकेट चटकाकर भारत को 8 रन से रोमांचक जीत दिला दी।

मैच के बाद जब युजवेंद्र चहल ने कप्तान विराट कोहली से पूछा कि आखिरी ओवर में केदार जाधव को नहीं चुन कर विजय शंकर से ही ओवर क्यों करवाया तो कोहली ने कहा, 'अगर आखिरी ओवर में स्पिनर की गेंद रडार में आ जाए तो स्टेप आउट करके छक्का मारना आसान हो जाता है।'

कोहली ने कहा, 'उस समय तेज गेंदबाज के लिए थोडा रिवर्स स्विंग हो रहा है था। कोहली ने कहा, 'मुझे उम्मीद थी कि विजय की गेंद भी थोड़ी बहुत रिवर्स स्विंग होगी। मुझे लगा अगर विजय गेंद अच्छी जगह पर डालेगा तो बॉल थोड़ी भी स्विंग के साथ मिस हो सकती है जो पहली ही गेंद पर देखने को मिला।'

चहल टीवी पर कोहली ने कहा, 'विजय को मैं खास तौर पर बधाई देना चाहूंगा, क्योंकि उसने जैसी बैटिंग की आकर और जैसा आखिरी ओवर किया उसके लिए मानसिक रूप से बहुत मजबूती चाहिए।' कोहली ने कहा, 'विजय ने अपना कैरेक्टर दिखाया है।' वहीं चहल ने विजय शंकर पर चुटकी लेते हुए कहा कि 'आप पर आखिरी ओवर में ज्यादा प्रेशर था या चहल टीवी पर हिंदी बोलने में ज्यादा प्रेशर है।' इस पर विजय ने कहा 'यहां हिंदी बोलने में ज्यादा प्रेशर है।'


कमेंट करें