राजनीति

पश्चिम बंगाल में हुई हिंसा पर बाबुल सुप्रियो ने ममता सरकार को कहा जिहादी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1527
| मार्च 28 , 2018 , 14:09 IST

रामनवमी के मौके पर पश्चिम बंगाल के रानीगंज में हुई हिंसा पर बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो लगातार ट्विटर के जरिए ममता सरकार पर निशाना साध रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने बंगाल में भड़की हिंसा के लिए राज्य की ममता सरकार को जिम्मेदार बताते हुए पश्चिम बंगाल की सरकार को जिहादी सरकार का नाम दिया है। सांसद सुप्रियो ने पश्चिम बंगाल पुलिस को सवालों के घेरे में लेते हुए कहा, पुलिस के कार्रवाई नहीं करने की वजह से हिंसा ने इतना बड़ा रूप ले लिया।

Bihar

राज्य सरकार ने हिंसा ख़त्म करने के लिए कोई एक्शन नहीं लिया और राज्य को दंगे की आग में झुलसने दिया। उन्होंने कहा कि इस हिंसा को टाला जा सकता था लेकिन पुलिस राजनीतिक  पार्टियों के इशारों  पर काम कर रही थी।

इलाके के गुंडों को पूरी छूट दी गई थी। उन्होंने लिखा कि सोशल मीडिया पर सैकड़ों तस्वीरें वायरल हो रही है, अगर इनमें से 25 फीसदी भी सही हैं तो पता चल जाएगा कि हालात कितने खराब हैं। वहीं तनावपूर्ण हालातों को देखते हुए आसनसोल में धारा 144 लगा दी गई है। इलाके में रैपिड एक्शन फोर्स और पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है।

इसके अलावा बिहार में भड़की हिंसा के बाद प्रशासन के हाथ-पांव भी फूले हुए हैं। औरंगाबाद के डीजी, गुप्तेश्वर पांडे ने दंगों को देखते हुए लोगों से अपील की है कि वह अफवाहों पर ध्यान न दें। उन्होंने कहा कि स्थिति जल्द ही नियंत्रण में आ जाएगी। 125 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है और गिरफ्तारी का सिलसिला जारी है। 

क्या है पूरा मामला

रामनवमी पर हथियारों के साथ रैली निकालने पर पाबंदी लगा दी गई थी। इसके बावजूद पुरुलिया जिले में रामनवमी के दिन कई लोग व लड़के-लड़कियां धारदार हथियारों के साथ रैली निकालते दिखे. रैली में नाबालिग लड़के व लड़कियां भगवान राम का नाम जपते हुए तलवार व चाकू जैसे हथियार भांज रहे थे. इस जुलूस के दौरान दो समूहों के बीच झड़प हो गई, जो बाद में हिंसक हो गई. इस घटना में दो लोगों की मौत की पुष्टि हुई थी, और 5 पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे। रैली के बाद से ही प्रदेश के हालात बिगड़ते चले गए और प्रदेश में जगह-जगह हिंसा होने लगी।  


कमेंट करें