खेल

सौरव गांगुली ने क्यों कहा? काश हमारे पास साल 2003 में धोनी होते !

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1245
| मार्च 1 , 2018 , 18:14 IST

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने महेन्द्र सिंह धोनी को लेकर एक अहम खुलासा किया है। गांगुली ने धोनी की तारीफ करते हुए कहा कि अगर 2003 में साउथ अफ्रीका में खेले गए विश्व कप महेंद्र सिंह धोनी उनकी टीम का हिस्सा होते तो उस वक्त ही हम विश्व कप के विजेता होते।

अपनी आत्मकथा 'अ सेंचुरी इज नॉट इनअफ' में गांगुली ने धोनी की तारीफ करते कहा है संघर्षों से लड़ते हुए धोनी जिस तरह विश्व कप विजेता कप्तान बने वह वाकई सराहनीय है।

गांगुली ने लिखा है, 'काश कि 2003 विश्व कप में धोनी हमारे साथ होते। मुझे पता चला कि जब हम 2003 विश्व कप का फाइनल खेल रहे थे उस समय धोनी भारतीय रेलवे में बतौर टिकट कलेक्टर काम कर रहे थे। अविश्वसनीय!' विश्व कप 2003 में भारतीय टीम को फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के हाथों 125 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। धोनी ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत दिसंबर 2004 में की थी।

Sourav-Ganguly-Wallpapers-Smile-FAce

गांगुली ने अपनी किताब में लिखा, 'मैं बीते कई वर्षों से ऐसे खिलाड़ियों पर नजर रखता हूं जो दबाव में भी संयम बनाए रखें। ऐसे खिलाड़ी जिनमें मैच का रुख बदलने की कुव्वत हो। महेंद्र सिंह धोनी को मैंने पहली बार 2004 में देखा था। वह मेरे इस विचार के हिसाब से खेलने वाले खिलाड़ी थे। मैं पहले दिन से ही धोनी से प्रभावित था।'

उन्होंने आगे लिखा, 'आज मैं खुश हूं कि मेरा आकलन सही निकला। यह वाकई लाजवाब है कि वह इतनी बाधाओं को पार कर आज इस मुकाम तक पहुंचे हैं।'

धोनी अंतरराष्ट्रीय मंच पर पहली बार भारत-ए के कीनिया दौरे पर छाए। इस दौरे पर उन्होंने पाकिस्तान-ए और कीनिया की टीमों के खिलाफ बड़े स्कोर बनाए। 2007 में विश्व टी20 में उन्हें पहली बार भारतीय टीम की कमान संभालने का मौका मिला।

इसे भी पढ़ें-: जब इंग्लैंड को जीत दिलाकर रोने लगे Ben Stokes ...

उनकी कप्तानी में भारत ने फाइनल में पाकिस्तान को हराकर खिताब जीता। धोनी की कप्तानी में ही भारत आईसीसी की टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक की पायदान तक पहुंची। 2011 में आईसीसी विश्व कप और 2013 में चैंपियंस ट्रोफी भारत ने धोनी की अगुआई में जीता। तीनों आईसीसी खिताब जीतने वाले वह भारत के इकलौते कप्तान हैं।


कमेंट करें