इंटरनेशनल

नहीं रहा दुनिया का इकलौता सफेद नर गैंडा 'सुडान'

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1231
| मार्च 20 , 2018 , 20:59 IST

केन्‍या अभ्‍यारण में उसकी देखरेख करने वाले केयर टेकर के अनुसार दुनिया के आखिरी सफेद नर गैंडे 'सुडान' की मौत हो गई है। देखरेख करने वाले लोगों ने बताया कि 45 साल का सुडान काफी समय से बीमार चल रहा था।

केयर टेकरों के मुताबिक सूडान को काफी समय पहले टांग में संक्रमण हो गया था, जिसका इलाज डॉक्टरों द्वारा किया जा रहा था। इलाज और दवाई देने के बाद भी जब सूडान को किसी भी तरह की राहत नहीं मिली तो उसे मौत की दवाई दे दी गई।

Ojsfj

24 घंटों में और बिगड़ी हालत-:

पिछले 24 घंटों में उसकी स्थिति और ज्‍यादा दयनीय हो गई थी। वह ठीक से खड़ा भी नहीं हो पा रहा था। ऐसे में उसके लिए यही विकल्‍प सबसे बेहतर था। पशु चिकित्‍सकों की टीम और केन्‍या वन्‍य जीव सेवा ने सूडान को दया मृत्‍यु देने का निर्णय लिया।

केन्‍या के इस अभ्‍यारण से पहले सूडान चेक गणराज्‍य के एक चिडि़याघर में था। यहां वह उसकी प्रजाति के दो मादा गैंडों के साथ रह रहा था। एक की उम्र 27 साल जिसका नाम नजिन है और 17 साल की दूसरे का नाम फेतु है।

Rr

बढ़ा सकते हैं प्रजाति-:

वैज्ञानिक इन विट्रो फर्टिलाइजेशन तकनीक (आईवीएफ) के जरिए इस प्रजाति की संख्‍या बढ़ाने पर काम कर रहे हैं। अब यही एक रास्‍ता बचा है कि आईवीएफ तकनीक से मादा गैंडा के एग और सूडान के स्‍पर्म को निषेचित किया जाए। इसके बाद भ्रूण को दक्षिणी सफेद मादा गैंडा में प्रत्‍योरोपित करके इस प्रजाति को बचाया जा सकता है। सहारा अफ्रीका में अब भी हजारों दक्षिणी सफेद गैंडा बचे हुए हैं।

R

50 हजार डॉलर किलो सींग-:
अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में उत्‍तरी सफेद गैंडा के सींग की कीमत 50 हजार डॉलर प्रति किलो है। यही वजह है कि इस प्रजाति के गैंडों की संख्‍या में तेजी से कमी आई। शिकारी सोने से भी महंगे सींग के लिए इस प्रजाति के गैंडों का अंधाधुंध शिकार करने लगे। 1970 में इनकी संख्‍या 20 हजार थी, जो घटते-घटते 1990 में 400 रह गई थी। सूडान की मौत के बाद अब दो रह गई है।


कमेंट करें