नेशनल

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ सड़क पर क्यों नहीं उतर रहा विपक्ष: यशवंत सिन्हा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1516
| सितंबर 4 , 2018 , 15:36 IST

पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में जबरदस्त बढ़ोतरी करने के लिए केंद्र सरकार की खूब आलोचना की और इस मुद्दे को लेकर विपक्षी दलों द्वारा विरोध प्रदर्शन नहीं किए जाने पर निराशा जताई। सरकार की आर्थिक नीतियों के धुर विरोधी रहे सिन्हा ने ट्वीट कर कहा, "पेट्रोल, डीजल और गैस की कीमतें बढ़ रही हैं और रोजाना हर दिन कीमतें नई ऊंचाईयों पर पहुंच रही हैं। विपक्षी दल सड़कों पर क्यों नहीं उतर रहे हैं? वे किस बात का इंतजार कर रहे हैं?"

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व नेता की टिप्पणियां देश भर में पहले से अभूतपूर्व स्तर पर पेट्रोल और डीजल की कीमतों के होने के बावजूद मंगलवार को लगातार 10वें दिन कीमतें बढ़ने के बाद आई हैं। राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को 78.84 रुपये प्रति लीटर बिके पेट्रोल के मुकाबले अब पेट्रोल 79.15 रुपये प्रति लीटर बिका।

लगातार 10वें दिन बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम-:

मंगलवार को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार 10वें दिन इजाफा हुआ है। दिल्ली में मंगलवार को पेट्रोल की कीमतों में 16 पैसे प्रति लीटर का इजाफा हुआ और इस तरह यहां पेट्रोल प्रति लीटर 79.31 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है। दिल्ली में डीजल की कीमतों में 19 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है और यह 71.34 रुपये प्रति लीटर पहुंच चुकी है।

मुंबई में पेट्रोल 86.72 रुपये प्रति लीटर है तो कोलकाता और चेन्नै में क्रमशः 82.22 और 82.41 रुपये प्रति लीटर है। 16 अगस्त से अबतक पेट्रोल की कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा का इजाफा हुआ है, वहीं डीजल के दाम 2.42 रुपये प्रति लीटर बढ़े हैं। दिल्ली में इस कैलेंडर इयर में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में अबतक क्रमशः 13% और 19% की बढ़ोतरी हुई है।

100 से 150 रुपये तक बढ़ेगा स्कूल बस का किराया-:

डीजल की कीमतों में हो रही बढ़ोतरी की आंच आपके स्कूल जाने वाले बच्चों के बस किराये पर भी पड़ सकती है। मुंबई में स्कूल बस ऑपरेटरों ने अक्टूबर से स्कूल बस किराये में बढ़ोतरी के संकेत दिए हैं। प्रति स्टूडेंट हर महीने 100 से 150 रुपये स्कूल बस किराया बढ़ सकता है।

मुंबई में स्कूल बस ओनर्स असोसिएशन के अनिल गर्ग ने कहा कि तेल की बढ़ती कीमतों को देखते हुए असोसिएशन आज सभी स्कूलों को बस फीस में बढ़ोतरी की जरूरत के बारे में चिट्ठी लिखेगा। बता दें कि मुंबई में 8 हजार स्कूल बसें हैं, जो डीजल से चलती हैं। सूत्रों के मुताबिक ट्रैवल एजेंसियां भी कार के किराए में 10 फीसदी तक की बढ़ोतरी कर सकती हैं।


कमेंट करें