नेशनल

फैजाबाद का नाम अयोध्या, दशरथ के नाम पर कॉलेज और राम के नाम पर एयरपोर्ट: योगी

राजू झा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1731
| नवंबर 7 , 2018 , 15:53 IST

देश में राम मंदिर निर्माण को लेकर छिड़ी बहस के बीच मंगलवार को रामनगरी अयोध्या दीपों से सजाई जा रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में अयोध्या में ऐतिहासिक दीपोत्सव मनाया गया। इस भव्य आयोजन की साक्षी दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जंग सूक हैं।

मंंगलवार दोपहर को अयोध्या में झांकी निकाली गई। रामायण के किरदारों के साथ अयोध्या के सड़कों पर झांकी निकाली गई। पूरे रास्ते लोगों ने सभी का स्वागत किया। इस दौरान हजारों की भीड़ सड़कों पर उतरी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अयोध्या पहुंचे।

योगी और किम जंग सूक के पहुंचने के बाद सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया गया। इस दौरान योगी ने कहा कि किम जंग सूक के आने से मुझे बेहद खुशी मिली है। योगी ने कहा कि अयोध्या में आज हम सबके लिए बड़ा महोत्सव है। अयोध्या को हम नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे।

फैजाबाद को अयोध्या के नाम से जाना जाएगा

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम नए संकल्प और नए उत्साह के साथ अयोध्या आए हैं। हम अपने अतीत को जोड़ने के लिए यहां आए हैं। अतीत से कटा व्यक्ति त्रिशंकु की तरह होता है। आज से इस जनपद (फैजाबाद) को अयोध्या के नाम से जाना जाएगा। अयोध्या हमारी आन-बान-शान की प्रतीक है। अयोध्या की पहचान श्री राम से है। पीएम ने कुछ दिनों पहले ही अयोध्या और जनकपुर के संबंधों को इनके बीच बस चलाकर नई ऊंचाइयां दी। पीएम ने चार सालों के शासन में रामराज्य की अवधारणा को साबित किया है। उन्होंने गरीबों के लिए कई योजनाएं चलाई हैं।

योगी ने आगे कहा कि अयोध्या के साथ दुनिया की कोई ताकत अन्याय नहीं कर सकती है, लेकिन जो कार्य हुए हैं उनके बारे में हमें सोचना चाहिए। पहले कोई सीएम अयोध्या नहीं आता था। मैं छह से ज्यादा बार अयोध्या आया हूं। हमने सड़कें चौड़ी करवाईं, तारों को अंडरग्राउंड करवाया, घाटों का सुंदरीकरण किया। पीएम ने रामायण सर्किट का गठन किया। हम अयोध्या से जनकपुर को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने जा रहे हैं।

पीएम ने महान काम किया है। नमामि गंगे परियोजना में सरयू में गिरने वाले गंदे नालों को बंद करने के लिए पैसा स्वीकृत हो चुका है। हम हरिद्वार की तरह अयोध्या में राम की पैड़ी बनाना चाहते हैं। हम यहां और भी कार्यक्रम आयोजित करेंगे। अयोध्या विकास के लिए तड़प रही है। आज यहां प्रकाश देखकर आपको अच्छा लग रहा होगा। अयोध्या को सदा सम्मान की दृष्टि से देखा जाएगा। अयोध्या में नया मेडिकल कॉलेज बनाया जा रहा है। इसका नाम राजर्षि दशरथ पर रखा जाएगा। यहां पर बन रहे एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के नाम पर रखा जाएगा।

योगी आदित्यनाथ ने लोगों से कहा कि मैं आश्वस्त करना चाहता हूं कि अयोध्या और देश की भावनाओं के साथ हम भी जुड़ना चाहते हैं। इसलिए हमने इन आयोजनों को रखा है। आज यहां पर कई देशों की रामलीलाओं का आयोजन होगा। दीपोत्सव के बाद राम की विभिन्न गाथाओं को देखेंगे।

किम जंग सूक ने यहां आकर दीपोत्सव को अंतरराष्ट्रीय मान्यता दी है। इसके लिए मैं उनका आभार व्यक्त करता हूं। हमारे कोरिया के साथ 2000 साल पुराने रिश्ते आज पीएम मोदी की वजह से नई ऊंचाइयों पर पहुंच गए हैं।

इस मौके पर किम जंग सूक ने कहा कि आज आप लोगों के बीच मुझे दिवाली का त्योहार मनाकर काफी खुशी हो रही है। पीएम मोदी का मुझे निमंत्रण देने के लिए शुक्रिया।

बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन ने मंच से नीचे मौजूद लोगों से कहा कि जो आप लोग चाह रहे हैं, उम्मीद है कि अगले साल तक आपको मिल जाएगा। आप यूपी के यशस्वी सीएम योगी आदित्यनाथ के लिए प्रार्थना कीजिए।

बता दें कि अयोध्या में सरयू के किनारे 151 मीटर ऊंची भगवान राम की तांबे की मूर्ति बनवाने की घोषणा योगी करने वाले हैं। इतना तो तय है कि योगी जो भी घोषणा करेंगे उसका समर्थन और विरोध होना तय है। क्योंकि संतों ने पहले ही ऐलान कर रखा है कि उन्हें ऊंची प्रतिमा नहीं राम मंदिर चाहिए।


कमेंट करें